Home » GRAMMAR


Adverb in HIndi

Adverb in Hindi

क्रिया विशेषण Adverb एक बहुत ही अच्छा Lesson है, आपने हिंदी बोलते वक्त शायद धयान दिया होगा कि कोई वाक्य में हमने थोड़ा, कम, ज्यादा, इतना, उतना, आज, कल, ऊपर, नीचे ये सभी शब्दों का उपयोग करते हैं यही तो क्रिया विशेषण Adverb है तो आइये इस अच्छे से समझते हैं।

क्रिया विशेषण ( Adverb )

क्रिया विशेषण हमें क्रिया ( Verb ) और विशेषण ( Adjective ) के बारे में अतिरिक्त जानकारी देता है, इसे Adverb क्रिया विशेषण कहते हैं।

Adverb It provides us the extra information about verb and adjective is called adverb.

आइये कुछ उदाहरण से समझते हैं 

1. सोनम एक अच्छी लड़की है।
1. Sonam is a good girl.

Note यहाँ पर कर्ता [ सोनम ] के बारे में बताया गया है की वो एक अच्छी लड़की है। यहाँ पर क्रिया विशेषण ( Adverb ) अच्छी है।

2. ये केले बहुत मीठे हैं।
2. These bananas are very sweet.

Note यहां पर कर्ता [ केले ] के बारे में बताया गया है कि वो [ बहुत ] मीठे हैं। यंहा पर क्रिया विशेषण बहुत है।

क्रिया विशेषण 4 प्रकार के होते हैं और इसके बारे में जानते हैं।

1. रीतिवाचक क्रिया विशेषण ( Adverb of Manner )

इस क्रिया विशेषण से यह पता चलता है कि काम (क्रिया) किस प्रकार या किस तरह से हुआ, उसे हम रीतिवाचक क्रिया विशेषण कहते हैं। रीतिवाचक क्रिया विशेषण को 9 भागों में बाँटा गया है, आइये इसे समझें 

Adverb of Manner This adverb describes the quality of activity being done, it is called Adverb of Manner. It has divieded into 9 forms.

1. विधि वाचक क्रिया विशेषण ( Method Adverb )

इस क्रिया विशेषण में जैसे धीरे धीरे [ Slowly ], खुशी से [ Happily ], जल्दी से [ Urgently ] शब्दों का उपयोग होता है।

2. निश्चय वाचक क्रिया विशेषण ( Decisiveness Adverb )

इस क्रिया विशेषण में जैसे जरूर [ Sure ], शक के बिना या नि: सन्देह [ Without doubt ] शब्दों का उपयोग होता है।

3. अनिश्चय वाचक क्रिया विशेषण ( Indecisiveness Adverb )

इस क्रिया विशेषण में जैसे कभी नहीं [ Never ], अक्सर [ Often ], शायद [ Maybe], संभवतः [ possibly ] शब्दों का उपयोग होता है।

4. हेतु वाचक क्रिया विशेषण ( Purpose Adverb )

इस क्रिया विशेषण में जैसे किसलिए  [ For what ], कम से कम [ Atleast ], किसके लिए [ For whom ], इसलिए [ Hence या So ] शब्दों का उपयोग होता है।

5. निशेध वाचक क्रिया विशेषण ( Prohibtion Adverb )

इस क्रिया विशेषण में जैसे नहीं या ना [ No, Not ], बिल्कुल नहीं [ off course not ], कभी नहीं [ Never ] शब्दों का उपयोग होता है।

6. प्रश्न वाचक क्रिया विशेषण ( Interrogative Adverb )

इस क्रिया विशेषण में जैसे कौन [ Who ], क्या [ What ], कहाँ [ Where ], क्यों [ Why ] शब्दों का उपयोग होता है।

7. स्वीकृति वाचक क्रिया विशेषण ( Permission Adverb )

इस क्रिया विशेषण में जैसे सच [ Truth ], हाँ [ Yes ], ठीक [ Right ] शब्दों का उपयोग होता है।

8. अवधारण वाचक क्रिया विशेषण ( Concept Adverb )

इस क्रिया विशेषण में जैसे तक [ By या Upto ], मात्र या केवल [ Only ], पूरा [ Full या Complete ] शब्दों का उपयोग होता है।

9. आकस्मिक वाचक क्रिया विशेषण ( Suddenness Adverb )

इस क्रिया विशेषण में जैसे अकस्मात [ Suddenly ], एकाएक [ Suddenly ], अचानक [ Suddenly ] शब्दों का उपयोग होता है।

आइये कुछ उदाहरण से समझते हैं 

1. तुमको धीरे धीरे चलना चाहिए।
1. You should walk slowly.

2. कौन हो तुम ?
2. Who are you ?

3. अचानक मुझे एक सांप दिखा।
3. Suddenly i saw a snake.

2. कालवाचक क्रिया विशेषण ( Adverb of Time )

इस प्रकार के क्रिया विशेषण से हमें यह पता चलता है कि काम (क्रिया) किस समय पर या किस समय में हो रहा है, उसे हम काल वाचक क्रिया विशेषण कहते हैं। कालवाचक क्रिया विशेषण को 3 भागों में बाँटा गया है, आइये इसे समझें

Adverb of Time The adverb which gives us the information about the time of a action, is called Adverb of Time. It has diveded into 3 forms, Let's understand it.

1. कालबिन्दु वाचक क्रिया विशेषण ( Point Adverb )

इस क्रिया विशेषण में जैसे आज [ Today ], कल (बीता हुआ) [ Yesterday ], कल (आने वाला) [ Tomorrow ], परसों [ Day before yesterday या Day after tomorrow ], अभी [ Now ], अब [ Just now ], तब [ Then ] शब्दों का उपयोग होता है।

2. अवधि वाचक क्रिया विशेषण ( Duration Adverb )

इस क्रिया विशेषण में जैसे दिनभर [ daylong या All day ], रातभर [ All night या Over night ], आजकल [ Nowadays ] शब्दों का उपयोग होता है।

3. बारम्बारता वाचक क्रिया विशेषण ( Frequency Adverb )

इस क्रिया विशेषण में जैसे रोज [ Daily ], प्रति घंटे [ Every hour या everyday ], हर घंटे [ Every hour ] शब्दों का उपयोग होता है।

आइये कुछ उदाहरण से समझते हैं 

1. आज मैं बाजार जा रहा हूँ।
1. Today I am going to market.

2. आजकल तुम कहाँ रहते हो ?
2. Where do you live nowadays?

3. स्थान वाचक क्रिया विशेषण ( Adverb of Place )

इस प्रकार के क्रिया विशेषण में हमें यह पता चलता है कि काम (क्रिया) किस स्थान या स्थिति और दिशा में कार्य कर रहा है, उसे हम स्थानवाचक वाचक क्रिया विशेषण कहते हैं। स्थान वाचक क्रिया विशेषण को 2 भागों में बाँटा गया है, आइये इसे समझें

Adverb of Place Word which tells about the place or direction of the action is called place adverb. It has divided into 2 forms, Let's understand it.

1. स्थिति वाचक क्रिया विशेषण ( Position Adverb )

इस क्रिया  में जैसे अन्दर [ Inside ], बाहर [ Outside ], पीछे [ Behind ], आगे [ Ahead ], आस पास [ Nearby ] शब्दों का उपयोग होता है।

2. दिशा वाचक क्रिया विशेषण ( Direction Adverb )

इस क्रिया विशेषण में जैसे ऊपर [ Above ], नीचे [ Below ], दाएँ [ Right ], बाएँ [ Left ] शब्दों का उपयोग होता है।

आइये कुछ उदाहरण से समझते हैं

1. वो मेरे बाएं खड़ा है।
1. He is standing in my left.

2. लड़के अंदर बैठे हैं।
2. The boys are sitting inside.

4. परिमाण वाचक क्रिया विशेषण ( Adverb of Quantity )

इस प्रकार के क्रिया विशेषण में हमें यह पता चलता है कि काम (क्रिया) कितनी माप या मात्रा (परिमाण) में कार्य कर रहा है, उसे हम परिमाण वाचक क्रिया विशेषण कहते हैं। परिमाण वाचक क्रिया विशेषण को 5 भागों में बाँटा गया है, आइये इसे समझें

The Word which tells about the quantity or measure of action are called Adverb of Quantity. It has divided into 5 forms, Let's understand it.

1. अधिकता वाचक क्रिया विशेषण ( Excess Adverb )

इस क्रिया विशेषण में जैसे अधिक [ More ], प्रचुर [ Abundant ], अत्यन्त [ Extreme ] शब्दों का उपयोग होता है।

2. न्यूनता वाचक क्रिया विशेषण ( Minimal Adverb )

इस क्रिया विशेषण में जैसे कम [ Less ], थोड़ा [ Little ] शब्दों का उपयोग होता है।

3. पर्याप्त वाचक क्रिया विशेषण ( Adequate Adverb )

इस क्रिया विशेषण में जैसे काफी [ Enough या Sufficient ], पर्याप्त [ Enough या Sufficient ] शब्दों का उपयोग होता है।

4. तुलना वाचक क्रिया विशेषण ( Comparision Adverb )

इस क्रिया विशेषण में जैसे इतना [ This much ], कितना [ How much ], उतना [ That much ], जितना [ As much ] शब्दों का उपयोग होता है।

5. श्रेणी वाचक क्रिया विशेषण ( Category Adverb )

इस क्रिया विशेषण में जैसे कम से [ As little ], थोड़ा थोड़ा [ Little by little ], बारी बारी से [ One by one ] शब्दों का उपयोग होता है।

आइये कुछ उदाहरण से समझते हैं

1. सोनम अत्यन्त सुन्दर है।
1. Sonam is extreme beautiful.

2. सोनम के पास कम पानी है।
2. Sonam has less water.

 

THANK YOU IF YOU LIKE THIS LESSON PLEASE SHARE YOUR LOVELY FRIENDS