Home » Blog


How to Create Passive Voice Easily in English Grammar

Passive Voice in Hindi

जिस वाक्य में Subject के स्थान पर Object को ज्यादा महत्व दिया जाता है तब उस वाक्य को Passive Voice कहते हैं। अर्थात वाक्य को जब हम Object से शुरू करते हैं या Subject के द्वारा बताया जाता है तब उस वाक्य को Passive Voice कहते हैं। किसी भी वाक्य का Passive Voice को बिना Object के नहीं बनाया जा सकता है, इसीलिए ऐसे वाक्य को " कर्म वाच्य " कहते हैं।  इसका ये मतलब है कि कर्म प्रधान वाक्य को ही Passive Voice कहते हैं। Passive Voice का वाक्य बनाते समय हमेशा क्रिया Verb का 3rd Form का उपयोग किया जाता है। 

हम आपको 1 उदाहरण के जरिये समझाने की कोशिश कर रहे हैं जिसे आप धयानपूर्वक देखें -

 Tense का  नाम

 Passive Voice की  संरचना  Passive  Voice का हिंदी वाक्य  Passive  Voice का  English  अनुवाद
 Present  Simple 

 Obj+am/is/are+

 Verb(3rd)

 कहानी  लिखा  जाता  है।  A story  is  written.
 Simple  Past 

 Obj+was/were+

 Verb(3rd)

 कहानी  लिखा  गया।   A story  was  written.
 Simple  Future 

 Obj+will be+

 Verb(3rd)

 कहानी  लिखा  जायेगा।  A story  will  be  written.
 Present  Continuous

 Obj+am/is/are+

 Being+Verb(3rd)

 कहानी  लिखा  जा  रहा  है।   A story is  being  written.
 Past  Continuous

 Obj+was/were+

 Being+Verb(3rd)

 कहानी  लिखा  जा  रहा  था।  A story was  being  written.
 Present  Perfect

 Obj+have/has+

 been+Verb(3rd)

 कहानी  लिखा  गया  है।  A story has  been  written.
 Past  Perfect 

 Obj+had+been+

 Verb(3rd)

 कहानी  लिखा गया  था।  A story had  been  written.
 Future  Perfect  Obj+will have+  been+Verb(3rd)  कहानी  लिखा  गया  होगा।   A story will  have been  written.

 

NOTE *** 

निम्नलिखित 4 Tense के वाक्य नहीं बनाये जाते हैं -

1. Present Perfect Continuous Tense.
2. Past Perfect Continuous Tense.
3. Future Perfect Continuous Tense.
4. Future Continuous Tense.

 

अगर आप कुछ महत्वपूर्ण नियमों का पालन करेंगे तो आप Passive Voice आसानी से बना सकते हैं। 

1. सबसे पहली बात Passive Voice के सभी Sentences में चाहे वह कोई भी Tense का Sentence हो, उसमे Verb का हमेशा 3rd Form ही उपयोग में लाया जाता है। ये बात का आपको हमेशा ध्यान रखना है कि Passive Voice के Sentence बनाते समय क्रिया Verb का 3rd Form को ही Use किया जाता है, चाहे वह कोई भी काल Tense का वाक्य क्यों ना हो चाहे आप Present Simple Tense का या फिर Future Simple Tense का या फिर Past Simple Tense का हो या फिर कोई भी Tense का Sentence हो पर आपको Verb क्रिया में हमेशा 3rd Form  ही Use करना है। 

2. अगर मान लीजिये कि Passive Voice के Sentences में यदि Subject होता है तो उसे By के द्वारा Sentence में उपयोग करते हैं। मतलब यह है कि अधिकतर समय Passive Voice के Sentences में Subject नहीं होता है, लेकिन अगर होता है तब Sentences के Last में By को लगाने के बाद Subject को लिख देते हैं।

3. Passive Voice के Sentences बनाते समय Verb से ठीक पहले Helping Verb लगाना बहुत Important है, फिर Verb का 3rd Form लगाते हैं। आपको नीचे में 1 सारणी बनाकर बताया जायेगा कि कौन से Tense में कौन सा Helping Verb आपको लगाना होगा। 

4. Passive Voice के सभी Sentences की Verb हमेशा सकर्मक क्रिया Transitive Verb होती है, अर्थात वह क्रिया जिसे वाक्य में कर्म Object की आवश्यकता होती है, उसे "सकर्मक क्रिया Transitive Verb" कहते हैं। जैसे - लिखना Write, पढ़ना Read, खाना Eat, पीना Drink, बेचना Sell, खरीदना Buy आदि Verb को Passive Voice के Sentences बनाते समय Verb को Use करते हैं। 

5. Passive Voice के Sentences बनाते समय अगर हमें Modals जैसे- Can, Could, Should, May, Must, Have to, Has to, Used to, Would like to etc. के Passive Voice वाले वाक्यों में सभी Modals के तुरंत बाद "Be" का प्रयोग करना जरुरी है। लेकिन कुछ Modals में जिसमे 3rd Form वाले Modals जैसे- Could have, Should have, May have, Must have etc. के बाद में "Been" का प्रयोग करते हैं।

 

 Tense Name   Helping Verb
 Simple Present Tense  am / is / are 
 Simple  Past Tense  was / were
 Simple  Future Tense  will be
 Present  Continuous Tense  am / is / are + being
 Past  Continuous Tense  was / were + being
 Present  Perfect Tense   have / has + been
 Past  Perfect Tense  had + been 
 Future  Perfect Tense  will have + been

 

उदाहरण - 

1. मुझे डांटा जाता है।

1. I am scolded.

2. तुम्हे पीटा जा रहा है।

2. You are being beaten.

3. तुम्हे एक पेन दी जायेगी।

3. You will be given a pen.

4. पुस्तक उठा लिया गया है।

4. Book has been picked.

5. कॉफी हर सुबह पी जाती है।

5. Coffee is taken every morning.

 

 

THANK YOU IF YOU LIKE THIS BLOG PLEASE ! SHARE YOUR LOVELY FRIENDS

Read More

Parts Of Speech in English Grammar

Parts Of Speech in Hindi

जब भी हम किसी से बात करते हैं तो सामने वाले व्यक्ति को अपनी बात को समझाने के लिए हमें कुछ शब्दों के समूह का उपयोग करना पड़ता है जिससे कि सामने वाला व्यक्ति हमारे वाक्यों में छुपे भावनाओं के अर्थ जरिये हमें हमारा उत्तर देता है, इसी वाक्यों के समूह को Parts Of Speech या शब्द भेद कहते हैं। 

Parts of Speech में मुख्य रूप से संज्ञा Noun, सर्वनाम Pronoun, क्रिया Verb, विशेषण Adjective, क्रिया विशेषण Adverb, सम्बन्ध सूचक अव्यय या पूर्वसर्ग Prepositions, संयोजक Conjunction, विस्मयादिबोधक Interjection इन सभी अवयवों का उपयोग 1 वाक्य को बोलते समय वाक्यों में कहीं न कहीं पर उपयोग जरूर किया जाता है। इन सभी अवयवों से मिलकर ही शब्दों के जरिये किसी भी वाक्य की रचना होती है। आइये इसके सभी अवयवों को उदाहरण सहित समझते हैं। 

संज्ञा Noun

संज्ञा वह शब्द है जो किसी व्यक्ति, प्राणी, स्थान, वस्तु का हमें दिए गए शब्दों में बोध कराता है, उसे Noun संज्ञा कहते हैं। संज्ञा 7 सात प्रकार का होता है -

1. Proper Noun
2. Commmon Noun
3. Collective Noun
4. Material Noun
5. Abstract Noun
6. Number Noun
7. Gender Noun

उदाहरण -

1. शुभम एक अच्छा लड़का है। 

1. Shubham is a good boy.

2. मैं रायपुर में रहता हूँ। 

2. I live in Raipur.

3. मेरे पास कार है।

3. I have a Car.

सर्वनाम Pronoun -

संज्ञा के स्थान में हम जिस शब्द का प्रयोग करते हैं, उसे Pronoun सर्वनाम कहते हैं। सर्वनाम 7 प्रकार का होता है -

1. Personal Pronoun
2. Possessive Pronoun
3. Reflexive Pronoun
4. Relative Pronoun
5. Demonstrative Pronoun
6. Indefinite Pronoun
7. Interrogative Pronoun

उदाहरण -

1. यह तुम्हारी पेन है। 

1. This is your pen.

2. तुम्हारा क्या नाम है ?

2. What is your name ?

3. वह एक अच्छा लड़का है। 

3. He is a good boy.

क्रिया Verb -

कर्ता अर्थात Verb के द्वारा वाक्य में किये जाने वाला काम को ही क्रिया कहते हैं। यह किसी भी वाक्य में महत्वपूर्ण स्थान रखता है। क्रिया मुख्य रूप से दो 2 प्रकार का होता है -

1. Main Verb
2. Helping Verb - (i) Be Form (ii) Modals

उदाहरण -

1. मैं स्कूल जाता हूँ। 

1. I go to school.

2. मैं स्कूल जा सकता हूँ। 

2. I can go to school.

3. टीना एक अच्छी लड़की है। 

3. Teena is a good girl.

विशेषण Adjective -

विशेषण वह शब्द है जिसके Through हम किसी संज्ञा Noun या सर्वनाम Pronoun की खासियत को बताता है, अर्थात दिए गये वाक्य में संज्ञा या सर्वनाम सुन्दर है या बदसूरत है या लम्बा है या चौड़ा है। विशेषण के तीन 3 भाग होते हैं -

1. Positive Form.
2. Comparative Form.
3. Suprelative Form.

उदाहरण -

1. सुहाना सुन्दर लड़की है। 

1. Suhana is a beautiful girl.

2. मेरा पास बड़ा कार है। 

2. I have a big car.

3. प्रिया लम्बी लड़की है।

3. Priya is a tall girl.

क्रिया विशेषण Adverb -

क्रिया विशेषण Adverb वह शब्द है जिसके माध्यम से क्रिया Verb और विशेषण Adjective के खासियत के बारे में पता चलता है, जैसे थोड़ा, कम, बहुत, ज्यादा, ऊपर, नीचे आदि शब्द को क्रिया विशेषण कहते हैं। क्रिया विशेषण चार 4 प्रकार का होता है -

1. Adverb of Manner.
2. Adverb of Time.
3. Adverb of Place
4. Adverb of Quantity.

उदाहरण -

1. मैं आज दिल्ली जा रहा हूँ।

1. I am going to Delhi today.

2. मेरे पास बहुत सारे पैसे हैं। 

2. I have a lot of money.

3. करीना अत्यंत सुन्दर लड़की है। 

3. Kareena is a extreme beautiful girl.

सम्बन्ध सूचक अव्यय या पूर्वसर्ग Preposition -

Prepositions का Use हम पूरे वाक्य में एक भाग के वाक्य में क्रिया वाले भाग से संबंध बताने और दोनों भाग के वाक्यों में स्थिरता लाने के लिए करते हैं। वैसे तो English Grammar में बहुत सारे Prepositions होते हैं। लेकिन फिर भी कुछ Prepositions को उदहारण सहित समझते हैं। 

For, At, From, Since, In, On, After, Before, Above, Off, With, Under, Between, Aomng, By, To, About, Of, Ago etc.

उदाहरण -

1. मैं स्कूल में हूँ।

1. I'm in school.

2. राजेश पांच घंटे से नाच रहा है। 

2. Rajesh is dancing for five hours.

3. मेरा पेन टेबल पर है। 

3. My pen is on the table.

समुच्चयबोधक Conjunction -

Conjuction ऐसे शब्द होते हैं जो पूरे वाक्यों के बीच में आकर दो शब्दों या वाक्यों को जोड़ते हैं उसे Conjuction समुच्चयबोधक शब्द या संयोजक कहते हैं। उदहारण के लिए जैसे - इसलिए, और, अगर, चूंकि, के बाद, नहीं तो, जब तक, तब तक, या, फिर, आदि।
Conjuction मुख्य रूप से तीन प्रकार के होते हैं -

1. Co-ordinating conjunction.
2. Correlative conjunctions.
3. Subordinating conjunctions.

उदाहरण -

1. क्या आप चाय लेंगे या दूध ?

1. Would you take tea or milk ?

2. मुझे स्कूल और बाजार जाना है। 

2. I have to go to school and market.

3. अगर तुम चाहो तो मै तुम्हारे साथ जा सकता हूँ। 

3. If you want, I can go with you.

विस्मयादिबोधक Interjection -

Interjection ऐसे शब्द हैं जो वाक्य में कभी अपनी भावनाओं को व्यक्त करना होता है, या फिर वाक्य में अपनी भावनाओं का व्यक्त होना जैसे खुशी, दुख आदि भावनाओं को प्रकट करना हो तो, ऐसे शब्द को हम विस्मयादिबोधक Interjection कहते हैं, विस्मयादिबोधक शब्द के अन्त में हमेशा Exclamation Mark ( ! ) को लगाया जाता है। उदहारण के लिए जैसे - कृपया !, बिलकुल !, वाह !, धन्यवाद !, हे भगवान !, ओह नहीं ! आदि, आइये इसके प्रकारों और इसे उदाहरण सहित समझें -

1. To Express Joy
2. To Express Grief
3. To Express Surprise
4. To Express Consent
5.  To Express Mistake

उदाहरण -

1. वाह ! कितना सुन्दर बच्चा है ये ?

1. Wow ! How beautiful baby is this ?

2. भगवान तुम्हारी रक्षा करे !

2. God protect you !

3. हे भगवान ! ये क्या है ?

3. Oh God ! what is this ?

 

THANK YOU IF YOU LIKE THIS BLOG PLEASE ! SHARE YOUR LOVELY FRIENDS

Read More